अपने पैरों को संक्रमण से कैसे बचाएं?

अक्सर आपने देखा होगा कि लोग अपने फेस और स्किन का तो अच्छी तरह से ध्यान रखते हैं लेकिन पैरों के प्रति लापरवाही बरतते हैं।

 मौसम बदलने पर अक्सर पैरों में संक्रमण हो जाता है। लिहाजा पैरों की सही देखभाल के लिए इन जरूरी बातों का रखें ध्यान.

कुछ लोगों की आदत होती है कि वे ऑफिस से घर जाने के बाद बिना स्लीपर के घूमते रहते हैं। ऐसा करने से भी पैरों में संक्रमण का खतरा रहता है।

जूते के साथ मोजा जरूर पहनें!

बिना मोजे के जूते पहनना, पैरों में संक्रमण का कारण बन सकता है। जितना जरूरी पैरों में जूते पहनना है, उतना ही जरूरी मोजे पहनना भी है।

नंगे पांव चलने से बचें, खासकर गीली घास या गीली फर्श पर, क्योंकि आपको संक्रमण हो सकता है।

खासकर नंगे पैर चलने से बचें।

पैरों की सफाई करें

भागदौड़ भरी जिंदगी के बीच पैरों की सफाई के लिए भी समय निकालें। इस कारण पैरों में संक्रमण का खतरा बना रहता है। नाखूनों को साफ और छोटा रखें।

अपने नाखूनों को छोटा और साफ रखें, और उन्हें नियमित रूप से काटें ताकि फंगल संक्रमण और नाखून कटने या आंसू आने के जोखिम से बचा जा सके।

मानसून के दौरान बंद जूतों से बचें।

बंद कपड़े से बने फुटवियर से फंगल इंफेक्शन का खतरा बढ़ जाता है क्योंकि यह मानसून के दौरान नमी को जल्दी सोख लेता है।

संक्रमण से दूर रहने के लिए जरूरी है कि आप शाम को घर लौटने के बाद अपने पैरों की साबुन से सफाई करें। पैरों की सफाई करते समय अंगुलियों के बीच के हिस्से की भी सफाई करें।

आपके पैरों की मृत त्वचा पैर को सख्त कर सकती है और दरारें पैदा कर सकती है। सुनिश्चित करें कि आप मृत त्वचा को हटाने के लिए अपने पैरों को नियमित रूप से फुट स्क्रबर से एक्सफोलिएट करें।

अपने पैरों को हल्के साबुन और गर्म पानी से नियमित रूप से धोएं और साफ करें, जिससे बैक्टीरिया और गंदगी को रोकने में मदद मिलती है। साथ ही पैरों पर मॉइश्चराइजर लगाएं।